विश्वकर्मा पूजा 2020 : जानिये यहां है विश्वकर्मा बाबा का इकलाैता मंदिर

विश्वकर्मा पूजा 2020 : असम में है बाबा विश्वकर्मा का एकलाैता स्थाई मंदिर

देशभर के कई राज्याें में आज विश्वकर्मा पूजा का आयाेजन किया जा रहा है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि विश्व के निर्माता के रुप में पूज्य बाबा विश्वकर्मा का दुनिया का एकलाैता मंदिर कहां हैं?

यह मंदिर किसी आैर देश में नहीं, बल्कि भारत के ही पूर्वाेत्तर राज्य असम में है।

असम की राजधानी गुवाहाटी के मालीगांव इलाके में स्थित है बाबा विश्वकर्मा का एकलाैता मंदिर।

विश्वकर्मा पूजा 2020
बाबा विश्वकर्मा का एकलाैता मंदिर

विश्वप्रसिद्ध मां कामाख्या मंदिर नीलाचल पहाड पर स्थित है आैर इसी पहाड की तलहटी में बाबा विश्वकर्मा का यह दिव्य मंदिर स्थित हैं।

इस मंदिर की स्थापना सन 1965 (सं २०२०) में की गई थी।

हर वर्ष विश्वकर्मा पूजा के उपलक्ष्य पर इस मंदिर में सैकडाें की तादात में भक्ताें का तांता लगता है।

हर वर्ग के लाेग बाबा विश्वकर्मा का दर्शन कर उनका आशीष लेते हैं।

विश्वकर्मा पूजा के उपलक्ष्य पर यहां बाबा का आशीर्वाद लेकर अपनी प्रतिष्ठान, उद्याेग-कारखानाें, वाहनाें व अन्य वस्तुआें की दीर्घायु की कामना करने आते हैं।

साथ ही अपने-अपने कार्यक्षेत्र में बेहतर भविष्य व सफलता की भी प्रार्थना करते हैं।

बाबा के चरणाें में पुष्प, दीया, अगरबत्ती आदि का चढावा भी भक्तगण देते हैं।

आपकाे बता दें कि असम में विश्वकर्मा पूजा 2020 कल यानि 17 सितंबर काे मनाई जायेगी।

इस माैते पर अधिकांश उद्याेग-कारखानाें के अलावा अखबाराें के कार्यालय भी बंद रहेंगे।

मालूम हाे कि हिंदा शास्त्राें में विश्वकर्मा का विश्व का निर्माता बताया गया है।

द्वारका का निर्माण भी विश्वकर्मा ने कहीं किया था, एसी मान्यता है। पांडवों की माया सभा, और देवताआें के लिए कई शानदार हथियारों के निर्माता भी थे विश्वकर्मा।

उन्हें दिव्य बढ़ई भी कहा जाता है, ऋग्वेद में उल्लेख किया गया है, और इसे यांत्रिकी और वास्तुकला के विज्ञान, स्टैप्टा वेद के साथ श्रेय दिया जाता है।

Leave a Comment